तारा सुतारिया का एक ऐसा रूप जिससे आप सभी अभी तक अनजान थे

तारा सुतारिया का एक ऐसा रूप जिससे आप सभी अभी तक अनजान थे

तारा सुतारिया के बेहतरीन एक्ट्रेस होने के साथ साथ एक अच्छी सिंगर और एक अच्छे दिल की इंसान भी हैं , तारा सुतारिया को डॉग्स बहोत पसंद हैं.

उन्हें जहा भी कोई डॉग दिखाई देता है वह रुख कर उससे मिल कर ज़रूर जाती है , अपने डॉग लवर तो बहोत तरीके के देखे होंगे पर इन जैसे बड़े कम देखने को मिलते हैं। हाल ही में तारा सुतारिया ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक तस्वीर शेयर करी है जिसमे वह स्ट्रीट डॉग के साथ नज़र आ रही है ,

यह तस्वीर जैसलमेर की है जहा तारा अपने मूवी के सिलसिले में गयी हुई थी , तारा के फैंस उनकी इस तस्वीर पर उन्हें कमैंट्स सेक्शन के माध्यम से बेहद प्यार देते हुए नज़र आये। तारा सुतारिया का जन्म 19 नवंबर 1995 को मुंबई के एक पारसी परिवार में हुआ था।

उनकी पिया नाम की एक जुड़वां बहन है। दोनों शास्त्रीय बैले, आधुनिक नृत्य और लैटिन अमेरिकी नृत्य में शास्त्रीय बैले और पश्चिमी नृत्य, रॉयल एकेडमी ऑफ डांस, यूनाइटेड किंगडम और इंपीरियल सोसाइटी फॉर टीचर्स ऑफ डांसिंग में प्रशिक्षित हैं।

यूनाइटेड किंगडम। वह सात साल की उम्र से एक पेशेवर गायिका रही हैं, तब से उन्होंने ओपेरा और प्रतियोगिताओं में गाया है। उन्होंने सेंट एंड्रयूज कॉलेज ऑफ आर्ट्स, साइंस एंड कॉमर्स से मास मीडिया में स्नातक की डिग्री प्राप्त की।

सुतारिया ने डिज़नी चैनल इंडिया के साथ एक वीडियो जॉकी के रूप में अपना जुड़ाव शुरू किया और उनके साथ दो सफल सिटकॉम के साथ जुड़ी रही। वह फिल्मों, विज्ञापनों और अपने स्वयं के मूल काम के लिए भारत और विदेशों में संगीत रिकॉर्ड कर रही है।

उनका गाना “स्लिपिन थ्रू माई फिंगर्स” भारत धाभोलकर की ब्लेम इट ऑन यशराज के अश्विन गिडवानी प्रोडक्शन का हिस्सा है। उन्होंने रैल पदमसी के संगीतमय ग्रीस के निर्माण में सैंडी की मुख्य भूमिका भी निभाई है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top