सना खान शादी के बाद अपने लैविश लाइफस्टाइल को लेकर खूब सुर्खियों में रहती हैं. अब एक बार फिर से सना ने अपनी आलीशान जिंदगी की झलकियां फैंस के साथ शेयर की हैं जिसमें वो 24 कैरेट गोल्ड प्लेटेड टी पीती दिखाई दे रही हैं.
सना खान को खुश करने के लिए शौहर ने बुर्ज खलीफा में पिलाई 24 कैरेट सोने वाली चाय, एक कप की कीमत उड़ा देगी होश

नई दिल्ली: बॉलीवुड को अलविदा कहकर गुजरात के मौलाना से शादी करके सबको हैरान कर देने वाली एक्ट्रेस और एक्स बिगबॉस कंटेस्टेंट सना खान इन दिनों अपनी मैरिड लाइफ एंजॉय कर रही हैं. सना इंस्टाग्राम के जरिए अपनी पर्सनल लाइफ से जुड़े अपडेट्स देती रहती हैं. अब एक बार फिर से सना ने अपनी लेटेस्ट तस्वीरें शेयर की हैं जिनमें वो बुर्ज खलीफा के टॉप पर बैठी चाय की चुस्की लेती दिखाई दे रही हैं.

सना खान ने शेयर की तस्वीरें

सना खान जिस चाय की चुस्की ले रही हैं वो कोई आम चाय नहीं है बल्कि 24 कैरेट गोल्ड प्लेटेड वाली चाय है. सना खान इन दिनों दुबई में अपने पति मुफ्ती अनस सैय्यद के साथ वेकेशन मना रही हैं. सना खान ने सोशल मीडिया पर अपने इस वेकेशन की तस्वीरें शेयर की हैं, और उनकी ये 24 कैरेट गोल्ड प्लेटेड टी की तस्वीरें देखकर हर कोई हैरान हो रहा है.

गोल्ड प्लेटेड चाय की कीमत

सना ने इंस्टाग्राम पर सोने की चाय और लजीज ब्रेकफस्ट की तस्वीर भी शेयर की है, जिसने फैन्स को एक्साइटेड कर दिया है. बता दें कि सना खान बुर्ज खलीफा के Atmosphere Lounge में ठहरी थीं और इंस्टा पोस्ट पर सना ने हैशटैग #atmosphere भी लिखा है. यहां गोल्ड प्लेटेड चाय की कीमत 160 दिरहम यानी करीब 3190 रुपये है.

लग्जरी लाइफ जीते हैं सना-अनस

बता दें  कि सना और अनस काफी लैविश लाइफस्टाइल जीते हैं. सूरत में अनस सईद का एक आलीशान और लग्जरी बंगला भी है. इंटरनेट पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, इस बंगले की कीमत करीब 7 करोड़ रुपये है. भले ही अनस सईद सादगी भरी जिंदगी जीते हैं और साधारण कुर्ता-पजामा और जूते पहनते हैं, पर इनकी कीमत लाखों में है.

सना अनस की पहली मुलाकात

‘बिग बॉस 6’ के अलावा ‘जय हो’, ‘टॉइलट- एक प्रेम कथा’ और ‘वजह तुम हो’ जैसी फिल्मों का हिस्सा रह चुकीं सना खान ने बॉम्बे टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि वह अनस सईद से कैसे मिली थीं. उन्होंने कहा था, ‘हम पहली बार 2017 में मक्का में मिले थे. मैं भारत लौट रही थी, उस दिन यह छोटी सी मुलाकात थी. अनस को मुझसे मुस्लिम स्कॉलर के रूप में मिलवाया गया था. मैं यह बात साफ करना चाहती हूं कि वह मुफ्ती नहीं आलिम हैं. 2018 के आखिर में उनको कॉन्टैक्ट किया था क्योंकि मुझे धर्म से जुड़े कुछ सवाल पूछने थे. फिर एक साल बाद 2020 में हम फिर से कनेक्ट हुए. मुझे हमेशा से इस्लाम के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानने की तरफ झुकाव था.’